Hindi Poem

Hindi Poem “मौत का रस्ता जरा आसान करदे, कौन खम्बखत तेरे बगैर जियेगा,! तेरी पलकों के ऊपर बैठे है मेरे ख्वाब, उन्हें तोडना मत वरना कौन सियेगा!! झील सी नीली आँखों में डूबा जब से कौन पागल,मयखाने में पियेगा ! जो तेरे अधरों पर मुस्कान सजी,मेरे इश्क़ की दास्ताँ,कह दीजियेगा !! जुल्फों के साये,तूने जो … Read more Hindi Poem